अद्भुत योगों में आयी पूर्णिमा, मोरपंख की झाड़ू से करें ये, कर्ज, बुरी नजर, बाधा, गलत दूर होंगे घर से

Spread the love

कार्तिक पूर्णिमा व्रत मुहूर्त New Delhi, India के लिए   

नवंबर 18, 2021 को 12:02:50 से पूर्णिमा आरम्भ
नवंबर 19, 2021 को 14:29:33 पर पूर्णिमा समाप्त

कार्तिक पूर्णिमा व्रत और धार्मिक कर्म

कार्तिक पूर्णिमा पर गंगा स्नान, दीपदान, होम, यज्ञ और ईश्वर की उपासना का विशेष महत्व है। इस दिन किये जाने वाले धार्मिक कर्मकांड इस प्रकार हैं-

●  पूर्णिमा के दिन प्रातःकाल जाग कर व्रत का संकल्प लें और किसी पवित्र नदी, सरोवर या कुंड में स्नान करें।
●  इस दिन चंद्रोदय पर शिवा, संभूति, संतति, प्रीति, अनुसुईया और क्षमा इन छः कृतिकाओं का पूजन अवश्य करना चाहिए।
●  कार्तिक पूर्णिमा की रात्रि में व्रत करके बैल का दान करने से शिव पद प्राप्त होता है।
●  गाय, हाथी, घोड़ा, रथ और घी आदि का दान करने से संपत्ति बढ़ती है।
●  इस भेड़ का दान करने से ग्रहयोग के कष्टों का नाश होता है।
●  कार्तिक पूर्णिमा से प्रारंभ होकर प्रत्येक पूर्णिमा को रात्रि में व्रत और जागरण करने से सभी मनोरथ सिद्ध होते हैं।
●  कार्तिक पूर्णिमा का व्रत रखने वाले व्रती को किसी जरुरतमंद को भोजन और हवन अवश्य कराना चाहिए।
●  इस दिन यमुना जी पर कार्तिक स्नान का समापन करके राधा-कृष्ण का पूजन और दीपदान करना चाहिए।

 

Also Read:   Kartik Purnima 2019 - कार्तिक पूर्णिमा के दिन क्या करें और क्या न करें

अद्भुत योगों में आयी पूर्णिमा, मोरपंख की झाड़ू से करें ये, कर्ज, बुरी नजर, बाधा, गलत दूर होंगे घर से

Search Terms  – कार्तिक पूर्णिमा की शादी,कार्तिक कब से शुरू है,कार्तिक पूर्णिमा कब है,कार्तिक पूर्णिमा सीरियल आज का,आज पूर्णिमा कितने बजे तक है,कार्तिक पूर्णिमा कब है 2020,कार्तिक पूर्णिमा क्यों मनाई जाती है,इस महीने की पूर्णिमा कब है


Spread the love